युवाओं का विकास

युवा राष्ट्र निर्माण कि सबसे मजबूत कड़ी है, जिसपर पूरा राष्ट्र टिका होता है, विभिन्न सामाजिक बुराइयां भारत को चुनौती देती हैं. देश का युवा अपनी शिक्षा का इस्तेमाल उन समस्याओं से लडऩे में कर सकता है, जो देश को रोगग्रस्त बनाए हुए हैं. युवा प्रत्येक ऐसी सामाजिक बुराई के खिलाफ संघर्ष कर सकते हैं, जो किसी राष्ट्र को पतन की ओर ले जाती है और उसे वांछित गति के साथ प्रगति करने से रोकती है.

Leave Your Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *